Home स्वास्थय अस्थमा के लक्षण एवं उपचार

अस्थमा के लक्षण एवं उपचार

4 second read
0
0
192

अगर आप को सांस लेने अक्सर परेशानी होती है, तो आप अस्थमा  से ग्रस्त हो सकते हैं | अस्थमा कई कारणों से हो सकता है | अमेरिका में करीब एक करोड़ बच्चों में अस्थमा के लक्षण पाए गए हैं | तो आज हम यहां पर जानेंगे कि अस्थमा वास्तव में होता क्या है, क्या लक्षण होते है अस्थमा के, किस तरह बचा जाये इस गंभीर बीमारी से और क्या इलाज है इसका|

अस्थमा क्या होता है ?

“दमा” या अस्थमा (Asthma) एक सांस की बीमारी है जिसमें मरीज को सांस लेने में अक्सर कठिनाई आने लगती है | हालांकि यह  हमेशा नहीं रहता परंतु मौसम बदलने पर या  खान-पान के कारण कई बार अस्थमा के अटैक पड़ने लगते हैं |

वास्तव में अस्थमा की स्थिति में सांस की नलियां सूज जाती हैं जिसके कारण सांस नली सिकुड़ जाती है और सांस लेने में दिक्कत आती है | इसी वजह से ही सीने में जकड़न, खांसी, छींक, सांस लेते समय आवाज आना जैसी समस्याएं सामने आती हैं |

अस्थमा के लक्षण

अस्थमा के लक्षणों में सीने में जकड़न, सांस फूलना, सांस लेने में कठिनाई, आवाज में बदलाव, मौसम बदलने पर स्थिति गंभीर हो जाना, ठंडी हवा में परेशानी, थकान महसूस होना शामिल है |

अस्थमा के कारण

यह कारण हर इंसान के लिए अलग अलग हो सकते हैं परंतु सबसे अधिक पाए जाने वाले कारणों में शामिल हैं वायु प्रदूषण, मौसम में बदलाव, धूम्रपान, दवाइयां, शराब का सेवन, अधिक व्यायाम, तनाव और पैतृक लक्षण |

अस्थमा को दो श्रेणियों में बांटा जा सकता है जिसमें से एक है सांस मार्ग में एलर्जी या जलन के कारण अस्थमा अथवा दूसरा है मौसम, वायु, सर्दी आदि कारण से अस्थमा |

अस्थमा से बचाव के तरीके

यह चीज आप खुद अच्छे से समझ सकते हैं | हर किसी के लिए अस्थमा के लक्षण और कारण अलग अलग हो सकते हैं इसलिए आपको यह पहले अच्छी तरह समझना होगा कि आपके लिए क्या सही है और क्या गलत |

डॉक्टरों के मुताबिक अच्छा खाना, गर्म पानी पीना, तनाव से दूर रहना, मेडिटेशन करना अस्थमा से बचाव के तरीके साबित हो सकते हैं | साथ ही आप को वजन पर काबू रखना होगा और अन्य प्रकार के प्रदूषण और धुंए  से दूर रहना होगा |

asthma

अस्थमा का इलाज

सबसे पहला काम जो जरूरी है वह यह है कि आप अस्थमा अटैक से जल्द राहत पाएं | अस्थमा अटैक के दौरान समय को टाले ना, क्योंकि वह जोखिम भरा हो सकता है | तुरंत ही नजदीकी चिकित्सालय जाएं और थोड़ी देर के लिए ही सही परंतु राहत पाएं | उसके बाद आप आगे के इलाज के लिए बड़े अस्पताल जा सकते हैं |

अस्थमा हालांकि ऐसी बीमारी है जो जीवन भर आपका पीछा नहीं छोड़ेगी | परंतु इससे लंबे समय तक दूर रहा जा सकता है | अस्थमा से जान का खतरा बेहद कम है बशर्ते आप दवाइयां समय पर लें |

अगर आप की हालत ज्यादा खराब है तो आप अपने साथ अस्थमा इनहेलर (Asthma Inhaler) या फिर अस्थमा नेबुलाइजर (Asthma Nebulizer) रख सकते हैं | अस्थमा के दौरान आपको दो तरह की दवाइयां दी जा सकती हैं जिसमें शामिल है स्टेरॉयड और अन्य एंटी इंफ्लेमेटरी ड्रग अथवा ब्रोंकोडाईलेटर्स |

Load More Related Articles
Load More By RPS
Load More In स्वास्थय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पुलवामा हमला आतंकियों की कायरता का प्रतीक

14 फरवरी वैलेंटाइन डे के दिन CRPF के 40 जवान आतंकवादी हमले मे वीरगति को प्राप्त हुए और इस …