Home अपना नजरिया विदेश मे पढाई का चलन – Study Abroad

विदेश मे पढाई का चलन – Study Abroad

2 second read
0
1
270
study abroad, videsh mai padhai

किसी भी व्यक्ति के लिए शिक्षा काफी मायने रखती है और अगर वह शिक्षा उच्च स्तर की हो तो उस व्यक्ति का जीवन भी संवर जाता है और वह पूरे समाज में अपना और अपने माता-पिता का नाम रोशन कर देता है।

आजकल के इस कंपटीशन और मुश्किलों से भरे जमाने में उच्च शिक्षा प्राप्त कर कुछ बन जाना काफी मुश्किल हो गया है ऐसे में वही व्यक्ति आगे बढ़ पाता है जो कि कड़ी मेहनत करता है और अपनी शिक्षा को ही अपना सब कुछ समझता है।

वैसे तो हर कोई छात्र शिक्षा ग्रहण करता है लेकिन बाहर यानी कि विदेश में पढ़ना किसी भी आम भारतीय के लिए एक बड़ी बात होती ही है। ऐसे में कई सारे छात्र ऐसे होंगे जो कि विदेश में शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं और समाज में अपना एक अलग स्थान बनाना चाहते हैं।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि विदेश में रहकर शिक्षा ग्रहण करना भारतीय लोगों के लिए इतनी सम्मान की बात की होती है यानी कि उस शिक्षा में ऐसा क्या खास होता है भारतीय छात्र उसकी तरफ आकर्षित होते हैं। आज हम इसी के बारे में बात करेंगे।

व्यक्तित्व का विकास : किसी भी व्यक्ति के लिए विदेश में पढ़ना एक बड़ी बात होती है लेकिन इसमें ना केवल आपको उच्च दर्जे की शिक्षा मिलती है साथ में आपके व्यक्तित्व का विकास भी होता है। क्योंकि जब आप अलग-अलग इंसानों से मिलते हो तो आपको काफी सारी चीजों के बारे में जानकारी होती है और उनके व्यवहार में भी आप घुल मिल जाते हो जिससे कि आपका व्यक्तित्व पहले से ऊंचे स्तर का हो जाता है।

कहीं भी बाहर देश में जाना और वहां पर रोजाना नई नई चुनौतियों के साथ साथ कुछ ना कुछ नई बातें सीखना आपके व्यक्तित्व को उभारता है। जब हम अपने रिश्तेदारों और परिचितों से दूर रहते हैं तो हमें मुश्किलों से जूझने की आदत हो जाती है और हम बाद में फिर अपनी आदत अनुसार उनका आसानी से सामना कर पाते हैं।

भाषा ज्ञान : किसी भी व्यक्ति को विदेश में पढ़ने के लिए एक चीज जो आकर्षित करती है वह उस देश की भाषा और वहां का ज्ञान होता है। अगर आप भी किसी भी देश की भाषा को सीखना चाहते हो तो इसके लिए विदेशी शिक्षा से अच्छा तरीका कोई हो ही नहीं सकता।

जब आप अलग देश के लोगों के साथ रहते हैं तो आप तेजी से उनकी भाषा व उनके अनोखे ज्ञान की तरफ आकर्षित होने लगते हो। कई लोग विदेश में रहने वाले लोगों के स्तर और उनके अनोखे ज्ञान की वजह से भी विदेशों की तरफ आकर्षित होते हैं और विदेशी शिक्षा को ग्रहण करने की इच्छा शक्ति अपने मन में रखते हैं।

एक बेहतर जीवनकिसी भी व्यक्ति के बारे शिक्षा का सबसे बड़ा कारण एक अच्छा स्तर यानी कि एक बेहतर जीवन होता है। क्योंकि हर व्यक्ति विदेश में शिक्षा ग्रहण करने की शुरुआत के साथ-साथ एक बेहतर जीवन की भी शुरुआत करता है जो कि शायद वह अपने देश में रहकर नहीं कर सकता है।

यह काफी सीधी बात होती है कि अगर आप विदेश में जाकर शिक्षा ग्रहण करते हैं तो आपको वहां पर जीवन भी यापन करना पड़ता है जिससे कि आप धीरे-धीरे वहां की लाइफ स्टाइल में घुल मिल जाते हो और फिर आप वहां पर एक अच्छे स्तर का जीवन जी सकते हो जो कि आप अपने देश में रहकर केवल मात्र एक कल्पना समझते थे।

overseas education, videsh mai shiksha

­­­

सीमित शिक्षा को ना कहना : जो लोग शिक्षा में काफी ज्यादा दिलचस्पी जताते हैं वह चाहते हैं कि उनके शिक्षा मात्रा सीमित ना हो। अर्थात कि वह किसी भी चीज के बारे में थोड़े से ज्यादा अधिक जानना चाहते हैं। भारतीय छात्रों में ऐसा अधिकतर पाया जाता है कि भारत में थोड़े से अधिक शिक्षा ग्रहण करना उनके लिए काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है।

ऐसे में अगर कोई भी व्यक्ति किसी भी चीज के बारे में थोड़े से अधिक जानना चाहता है तो अब रोड स्टडी यानी की विदेशी शिक्षा सबसे अच्छा विकल्प होता है जहां पर आपको थोड़े से काफी अधिक जानने को मिलता है। अर्थात विदेशी शिक्षा के लिए इच्छाशक्ति भी एक बड़ी आकर्षण है।

अच्छी जॉब की लालसा :  भले ही यह बात पूरी तरह से सही नहीं है कि कोई भी व्यक्ति विदेश में जाने के बाद एक अच्छी नौकरी या फिर एक अच्छा सम्मान हासिल कर लेता है लेकिन फिर भी एक हद तक भारतीय समाज के लिए यह बात काफी ठीक है। क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि जो भी व्यक्ति विदेश में शिक्षा ग्रहण कर रहा होता है उसे भारत में अच्छी जॉब मिल जाती है।

अर्थात कि अगर कोई छात्र विदेश में  शिक्षा ग्रहण करता है तो उसे किसी भी भारतीय छात्र से नौकरी या किसी अच्छे स्तर के काम के अवसर ज्यादा मिलते हैं। यही कारण है कि अच्छी जॉब की लालसा में छात्र विदेशी शिक्षा के प्रति काफी ज्यादा आकर्षित होते हैं।

विदेश में पढाई के लिए बेहतर देश

इंग्लैंड : विकसित देश इंग्लैंड इतिहास से भरा हुआ देश माना जाता है। अगर आप भी इतिहास के बारे में जानना चाहते हो तो शायद इंग्लैड देश आपके लिए सबसे बेहतरीन ऑप्शन हो सकता है। इंग्लैड में आपको न केवल किताबी ज्ञान मिलेगा बल्कि एक्सपेरिमेंट्स बेस शिक्षा के लिएमें भी इंग्लैंड को बेहतरीन देश माना जाता है। अर्थात विदेशी शिक्षा के लिए इंग्लैंड एक बेतरीन देश है।

इटली : शिक्षा के मामले में पूरी दुनिया में इटली का लोहा माना जाता है क्योंकि इटली में हमें इतिहास के शानदार विवरण के साथ साथ तकनीकी शिक्षा भी काफी अच्छे तरीके से मिलती है। बता दें कि इटली एक विकसित देश माना जाता है और यहां का अधिकतम विकास इसकी विकसित शिक्षा प्रणाली के कारण ही हुआ है। अगर कोई व्यक्ति इतिहास या फिर तकनीकी में रुचि रखता है तो वह इटली में अपनी शिक्षा ग्रहण कर सकता है।

स्पेनअगर विदेश में शिक्षा ग्रहण करने के साथ साथ आप एक अच्छी और उच्च स्तर की लाइफस्टाइल भी पाना चाहते हो तो ऐसे में फोरन कंट्री ‘स्पेन’ सबसे बेहतरीन ऑप्शन है। अगर आप स्पेन में शिक्षा ग्रहण करते हो तो आप को ना केवल एक अच्छे दर्जे की शिक्षा मिलेगी साथ में आपको खाना बनाना और अन्य भी कई सारे काम सीखने को मिल जाएंगे जो कि इस मामले में स्पेन देश सबसे आगे है।

रूस – मेडिकल स्टडीज या फिर कहें चिकित्सा अध्ययन में रूस को बहुत ऊपर मापा जाता है | दुनिया भर से इस क्षेत्र में पढाई करने के लिए लोग रूस की और रुख करते हैं | मास्को शहर में मेडिकल स्टडीज के लिए भारत से कई विद्यार्थी हर साल जाते हैं |

ऑस्ट्रेलिया, कनाडा – इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया कनाडा भी विदेश में पढाई और नौकरी के लिए बेहतर देश माने जाते हैं | इन दोनों देशों में ही नौकरियों की कोई कमी नहीं है | पढाई पूरी करने के बाद लोग वहीं पर नौकरी कर सेटल हो जाते हैं |

आपको बता दें कि उपरोक्त सभी देशो को विकसित देशों की गिनती में गिना जाता है। इसलिए अगर आप अच्छे दर्जे की शिक्षा ग्रहण करना चाह रहे हो तो तो उपरोक्त सभी देश एक बेहतर ऑप्शन होंगे क्योंकि यहाँ  पर न केवल आपको किताबी ज्ञान बल्कि जीवन जीने के लिए कई सारे बेसिक ज्ञान भी सीखने को मिल जाएंगे |

Load More Related Articles
  • ground water level

    घटता भूजल स्तर

    जल ही जीवन है और इसके  बिना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना  भी नहीं की जा सकती, परन्तु हम लोगों …
  • kanvar, kanvad

    कांवड़ यात्रा

    प्रत्येक वर्ष सावन के महीने मे कांवड़ यात्रा प्रारम्भ होती है , भगवान शिव से अपना मनवांछित …
  • Maharana Pratap

    महाराणा प्रताप

    मेवाड़ के राजा, महाराणा प्रताप अपने समय एक मात्र ऐसे स्वाभिमानी शासक थे, जिन्होंने देश की स…
Load More By RPS
Load More In अपना नजरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

घटता भूजल स्तर

जल ही जीवन है और इसके  बिना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना  भी नहीं की जा सकती, परन्तु हम लोगों …