Junk Food

0 second read
0
0
708
junk food burger pizza

जंक फ़ूड हमारे समाज में महत्वपूर्ण जगह बना चूका है | हर गली हर चौराहे पर आपको जंक फ़ूड की स्टाल्स आम नज़र आजाएंगी | जंक फ़ूड का सेवन दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है और यह लोगों की सेहत को बोहत भारी मात्रा में नुक्सान पंहुचा रहा है | तो आइये जानते हैं जंक फ़ूड क्या है और यह किस तरह हमारे शरीर को क्षति पंहुचाता है |

जंक फूड क्या होता है?

वह संसाधित खाना जिसमें पोषक तत्व कम अथवा शुगर, सोडियम, फैट और कार्बोहाइड्रेट अधिक होते हैं उसे जंक फूड कहते हैं | इस पंक्ति में संसाधित का अर्थ है प्रोसेस्ड फूड | जंक फूड की श्रेणी में बर्गर, पिज़्ज़ा, हॉट डॉग, डोनट्स, कैंडी, पेस्ट्री, कोल्ड ड्रिंक, सोडा इत्यादि आते हैं | एक बात हम आपको बता दें कि जंक फूड और फास्ट फूड में अंतर होता है | हर जंक फूड, फास्ट फूड नहीं होता और हर फास्ट फूड, जंक फूड नहीं होता |

जंक फूड और फास्ट फूड में अंतर

जंक फ़ूड क्या होता है यह तो आप समझ ही चुके हैं | फास्ट फूड वह खाना होता है जो आसानी से बन जाए और उपलब्ध हो जाए | हालांकि अधिकांश खाने जो फ़ास्ट फ़ूड की सूची में आते हैं वह जंक फ़ूड की सूची में भी आते हैं | परन्तु फ्रूट्स जो की फ़ास्ट फ़ूड है वह जंक फ़ूड तो किसी भी कीमत पर नहीं है | दूसरी और पिज़्ज़ा जो जंक फ़ूड की सूची में तो है परन्तु फ़ास्ट फ़ूड की सूची में नहीं है |

fast food

जंक फूड से होने वाले नुकसान

मोटापा – यह बीमारी बहुत तेजी से फैल रही है | अमेरिका में तो हर दूसरा आदमी मोटापे का शिकार है | और अब यह असर बच्चों पर भी दिखने लगा है | मोटापा वह बीमारी है जो ज्यादा बढ़ने पर अपने साथ और भी कई सारी बीमारियां लाता है |

डायबिटीज – यानी कि मधुमेह | इस बीमारी में मानव का शरीर शुगर को पचा नहीं पाता | जैसा कि हम पहले बता चुके हैं जंक फूड में भारी मात्रा में शुगर होती है जिससे पैंक्रियास पर बहुत असर पड़ता है | जवान शरीर के अंग तो इस दबाव को झेल लेते हैं परंतु जब उमर 40 से ऊपर जाती है तब लोगों को शुगर, दिल, फेफड़े की बीमारी होने लगती है |

हाई ब्लड प्रेशर – रक्तचाप का बढ़ना | जंक फूड्स में सोडियम की मात्रा बहुत होती है | नमक तो जंक फूड का अभिन्न अंग है | नमक से नसों में तनाव बढ़ जाता है और रक्तचाप आसानी से नहीं हो पाता जिससे कि ब्लड प्रेशर में वृद्धि हो जाती है |

डाइजेस्टिव सिस्टम अथवा पाचन क्रिया में परेशानी – अधिकांश जंक फूड पचने में बहुत वक्त लगाते हैं जिससे हमारी पाचन क्रिया पर काफी दबाव पड़ता है | अगर पूर्ण रूप से व्यायाम या वर्कआउट ना किया जाए तो जंक फूड आपको कई सारी पेट की बीमारियां दे सकते हैं |

प्रजनन प्रणाली अथवा रिप्रोडक्टिव सिस्टम – एक शोध के अनुसार जंक फूड, प्रजनन प्रणाली पर भारी असर डाल सकता है | जंक फूड में एक फतहलातेस नामक केमिकल होता है जो हारमोंस की सक्रियता पर असर डालता है जो बाद में बच्चे पैदा होने में दिक्कत खड़ी कर सकता है |

हेयर लॉस एवं चर्म रोग – जंक फ़ूड, हेयर लॉस अथवा चरम रोग को बढ़ावा देता है साथ ही इससे हड्डियों में भी कमज़ोरी आती है | वास्तव में इसके पीछे का कारण जंक फ़ूड नहीं परन्तु जो लोग जंक खा कर पोषक भोजन नहीं लेते वह इसका शिकार होते हैं | अगर महीने में एक या दो दिन जंक फ़ूड खाते हैं तो इससे कोई खास परेशानी नहीं होगी | परन्तु जब हम पोषक भोजन की जगह पर जंक फ़ूड खाते हैं यह परेशानी का सबब बनता है |

जंक फ़ूड केवल जीब का स्वाद ही है जो आगे चलकर आपको बोहत नुक्सान देने वाला है | जंक फ़ूड का सेवन काम से काम करें एवं दूध दही, फल फ्रूट का सेवन ज्यादा करें |

 

Load More Related Articles
Load More By RPS
Load More In स्वास्थय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पुलवामा हमला आतंकियों की कायरता का प्रतीक

14 फरवरी वैलेंटाइन डे के दिन CRPF के 40 जवान आतंकवादी हमले मे वीरगति को प्राप्त हुए और इस …